छोटी कहानियाँ

इस खंड में लेखक अंशु श्रीवास्तव द्वारा लिखित लघु कथाएँ हैं।
खरगोश और ईस्टर अंडा

बनी खरगोश की दादी माँ की सूझबूझ।

सब ने वहीं पर कॉफी लस्सी चिप्स और एप्पल पाई का मजा लिया एक बात बिल्कुल साफ थी बच्चों को अच्छा बढ़िया खाना चाहिए था जो उनकी रूटीन से अलग हटके हो वह चाहे वह घर का हो या बाहर का।

Read More »

रक्षाबंधन / Rakshabandhan

रक्षाबंधन Rakshabandhan जिंदगी की रफ्तार में मैं कहीं जा रही थी। तभी एक लम्हे ने पुकारा, सुनो, जरा ठहरो चौकं कर मैं ठहर गई, तो

Read More »
kid's Birthday Party

बनी रैबिट की बर्थडे पार्टी

बनी को गिफ्ट खोल कर देखने की जल्दी थी तो उसने केक खाने के बाद गिफ्ट खोलने लगा।  वह जानना चाहता था कि हाथी अंकल ने उसे क्या दिया है। धीरे-धीरे सभी के गिफ्ट खुल गए। किसी ने पेंसिल बॉक्स दिया था किसी ने नोटबुक, किसी ने पेन किसी ने बॉल और किसी ने बोर्ड गेम दिया था। पर जिस गिफ्ट को खोलने की जल्दी बनी को थी वह अब खुलने वाला था।

Read More »

कैलाशा

“माँ जी, हम आपसे कभी झूठ नहीं बोलते। सच कह रहे हैं माता जी, हम आपकी बड़ी इज्ज़त करते हैं। कोई कह नहीं सकता कि

Read More »

वह एक पल

“बच गए यार, नहीं तो गए थे आज,” बाइक को रोड किनारे लगाकर, अर्जुन वहीं फुटपाथ पर बैठ गए। सारा शरीर काँप रहा था। आँखों

Read More »

अनु की परीक्षा

“पिंक सिटी, जयपुर, वहाँ की सभी इमारतें, घर और बिल्डिंग सब पिंक कलर के। यह तो पुराना आईडिया है, सब जानते हैं। फिर नया क्या

Read More »
error: Alert: Content is protected !!