हिंदी कहानियां

कहानियां बच्चों को कौशल और नैतिक मूल्यों को सिखाने का एक शानदार तरीका हैं। बच्चे सीधे पाठों से कम सीखते हैं, कहानियों से अधिक जुड़ते हैं। इस खंड में काल्पनिक और वास्तविक कहानियाँ पढ़ें।
Couple Looking At Sunset

Ajita Chapter 12: होली की तैयारी

Ajita Chapter 12: होली की तैयारी कुछ दिनों में होली आने वाली थी। होली की तैयारी हो रही थी। अजिता काफी दिन पहले से उसकी

Read More »

Ajita Chapter 11: अपना प्यारा घर

Ajita Chapter 11: अपना प्यारा घर अभिनव के सोने के बाद अजिता उठी और सारे कपड़े अलमारी में सेट किये फिर शाम की पार्टी में

Read More »

Ajita Chapter 9: ज्योति की सूझबूझ

Ajita Chapter 9: ज्योति की सूझबूझ “कोई उठाकर तो नहीं ले गया।” अजिता का दिल ज़ोर ज़ोर से धड़कने लगा। वह न्यूज़ पेपर में अक्सर

Read More »

Ajita Chapter 8: अजिता की उलझन

chapter 8 अजिता की उलझन दोपहर के खाने में वह अभिनव की मनपसंद मटर पनीर की सब्जी और हलवा बनाने किचन में चली गई। एक

Read More »

Ajita Chapter 7 – अभिनव का बहाना

Ajita Chapter 7 – अभिनव का बहाना बाथरूम से बाहर निकलकर उसने स्कूल ड्रेस पहनी और अपना टिफिन बैग में रख लिया। “बचा लिया टिफिन

Read More »

Ajita chapter 6: अभिनव का ड्रामा

अध्याय-6 अभिनव का ड्रामा अपनी बंदूक की सारी गोलियाँ डाकू के सीने में दागकर अभिनव ने अपनी मुछों पर ताव दिया और बंदूक अपने कंधे

Read More »

Ajita Chapter -3 गाँव का जीवन

गाँव का जीवन “अम्मा, बहू तो आपकी रुप रंग से बहुत सुंदर है। बातचीत भी अच्छी कर लेती है लेकिन अगर कामकाज़ नहीं जानती तो

Read More »

Ajita Chapter-2 समझौता

समझौता बारहवीं की परीक्षा खत्म होते ही अजिता के पिताजी उसकी शादी ढूँढने लगे। अजिता ने पहले बहुत मना किया। वह एक अच्छी छा़त्रा थी

Read More »
खरगोश और ईस्टर अंडा

बनी खरगोश की दादी माँ की सूझबूझ।

सब ने वहीं पर कॉफी लस्सी चिप्स और एप्पल पाई का मजा लिया एक बात बिल्कुल साफ थी बच्चों को अच्छा बढ़िया खाना चाहिए था जो उनकी रूटीन से अलग हटके हो वह चाहे वह घर का हो या बाहर का।

Read More »

शर्मा जी और उनका टिफ़िन

“सुमन, मेरे मोज़े कहाँ रखे हैं?’ कभी जगह पर मिलते ही नहीं।” शर्मा जी ने झल्लाते हुए अपनी पत्नी को आवाज़ लगाई। उनके चहरे से

Read More »

रक्षाबंधन / Rakshabandhan

रक्षाबंधन Rakshabandhan जिंदगी की रफ्तार में मैं कहीं जा रही थी। तभी एक लम्हे ने पुकारा, सुनो, जरा ठहरो चौकं कर मैं ठहर गई, तो

Read More »
kid's Birthday Party

बनी रैबिट की बर्थडे पार्टी

बनी को गिफ्ट खोल कर देखने की जल्दी थी तो उसने केक खाने के बाद गिफ्ट खोलने लगा।  वह जानना चाहता था कि हाथी अंकल ने उसे क्या दिया है। धीरे-धीरे सभी के गिफ्ट खुल गए। किसी ने पेंसिल बॉक्स दिया था किसी ने नोटबुक, किसी ने पेन किसी ने बॉल और किसी ने बोर्ड गेम दिया था। पर जिस गिफ्ट को खोलने की जल्दी बनी को थी वह अब खुलने वाला था।

Read More »

कैलाशा

“माँ जी, हम आपसे कभी झूठ नहीं बोलते। सच कह रहे हैं माता जी, हम आपकी बड़ी इज्ज़त करते हैं। कोई कह नहीं सकता कि

Read More »

वह एक पल

“बच गए यार, नहीं तो गए थे आज,” बाइक को रोड किनारे लगाकर, अर्जुन वहीं फुटपाथ पर बैठ गए। सारा शरीर काँप रहा था। आँखों

Read More »

अनु की परीक्षा

“पिंक सिटी, जयपुर, वहाँ की सभी इमारतें, घर और बिल्डिंग सब पिंक कलर के। यह तो पुराना आईडिया है, सब जानते हैं। फिर नया क्या

Read More »
error: Alert: Content is protected !!