Parenting Articles & Stories

Books

Welcome Zindagi

यह भारत के एक छोटे शहर पर आधारित एक सामाजिक कहानी है।सामान्य तौर पर ये देखा जाता है कि एक आम आदमी अपनी जिंदगी में संतुष्ट रहता है लेकिन जब उसके साथ वाले कैरियर या स्टेटस में आगे निकल जाते हैं तो वह अंदर से परेशान हो जाता है और उसके अंदर ईर्ष्या जन्म ले लेती हैं। इस कारण वह लोगों से जलने लगता है, उन्हें भला-बुरा कहता है और उन्हें नीचा दिखाने के लिए उनकी कमियाँ निकालने लगता है। और तब वह अपने और उनके बीच एक दीवार खड़ी कर देता है।

इसके विपरीत एक प्रसिद्ध व्यक्ति जो अपनी ज़िंदगी में सब कुछ हासिल कर चुका है, वह अपने पुराने दोस्तों और रिश्तेदारों की उसके प्रति ईर्ष्या के कारण दूर हो जाता है।जबकि दोनों की खुशी एक साथ है न कि अलग-अलग होने में।इस कहानी के माध्यम से यह दर्शाया गया है कि एक व्यक्ति का परिवार ही उसकी असली ताकत होता है। पड़ोसी, दोस्त और रिश्तेदार आदि चाहे जितने भी अच्छे हो पर हमारी खुशी और शक्ति हमारे अपने बच्चों, माता-पिता, भाई-बहन और पति-पत्नी पर निर्भर करती है। जबकि सामान्य तौर पर हम अन्य लोगों को अपने परिवार के सदस्यों से अधिक महत्व देते हैं।

इस कहानी का मुख्य उद्देश्य, हमारे जीवन में पारिवारिक संबंधों का महत्व दर्शाता है।इस कहानी के मुख्य पात्र शर्मा जी (एक खुले विचार वाले व्यक्ति है), सुमन (पत्नी) और अखिल ( सफल व्यक्ति) है। यह कहानी उन लोगों को मदद करेगी जो अक्सर बड़े-बड़े सपने देखते हैं लेकिन उनको पता नहीं होता कि उन सपनों का सच कैसे करेंगे।